हरिद्वार में घूमने की जगह. Haridwar Me Ghumne Ki Jagah

Spread the love

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका देवभूमि उत्तराखंड के आज के नए लेख में । आज के इस लेख के माध्यम से हम आप लोगों के साथ उत्तराखंड का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल हरिद्वार में घूमने की जगह के ( Haridwar Me Ghumne Ki Jagah ) बारे में बात करने वाले हैं। वैसे तो देवभूमि उत्तराखंड में अनेकों दार्शनिक स्थल है। लेकिन उन सभी जगह में से खास है उत्तराखंड का हरिद्वार जो की न केवल प्राकृतिक सौंदर्य के लिए पहचाना जाता है बल्कि यह उत्तराखंड का प्रमुख धार्मिक स्थान भी है। चलिए हरिद्वार के घूमने की जगह के बारे में ( Tourist Place of Haridwaar ) जानते हैं।

हरिद्वार के बारे में. About To Haridwaar

हरिद्वार गढ़वाल क्षेत्र का एक प्रमुख धार्मिक एवं तीर्थ स्थल के रूप में जाना जाता है। खूबसूरत पर्वतों के मध्य में बसा हुआ हरिद्वार शहर गंगा नदी के दाहिने तट पर स्थित है। उत्तराखंड के एक नए जिले के रूप में 28 दिसंबर 1988 को सामने आया। हरिद्वार में हर की पौड़ी नामक एक घाट है। ऐसे हर की पौड़ी के नाम से भी पहचाना जाता है। समुद्र तल से 3139 मीटर की ऊंचाई पर स्थित हरिद्वार हिंदुओं के साथ पवित्र स्थानों में से एक है। पहाड़ की खूबसूरत वादियों से होते हुए गंगा नदी हरिद्वार से शहर में प्रवेश करती है इसलिए हरिद्वार को गंगा द्वारा के नाम से भी जाना जाता है।

हरिद्वार में घूमने की जगह.Haridwar Me Ghumne Ki Jagah

यह तो हरिद्वार में घूमने के लिए कहीं जगह है लेकिन आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसी जगह के बारे में जानकारी देना चाहते हैं जिन जगहों की यात्रा आप एक दिन के अंदर या हरिद्वार वन डे ट्रिप में शामिल कर सकते हैं। जानते हैं कुछ ऐसे खूबसूरत सी जगह के बारे में जहां आप हरिद्वार में एक दिन यात्रा का अनुभव ले सकते हैं।

मां चंडी देवी मंदिर हरिद्वार

द्वारा में घूमने की जगह की श्रेणी में ( Haridwar Me Ghumne Ki Jagah ) सर्वप्रथम मां चंडी देवी मंदिर का स्थान सर्वश्रेष्ठ है। मां चंडी को समर्पित चंडी देवी मंदिर शिवालिक पहाड़ियों के नील पर्वत के ऊपर स्थित है। मां चंडी देवी मंदिर का निर्माण आठवीं शताब्दी में आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा किया गया था। घूमने के लिए यह जगह बेहद खूबसूरत है। मंदिर से आसपास का खूबसूरत दृश्य बड़ा ही मनमोहक एवं आकर्षक दिखाई देता है।

Haridwar-Me-Ghumne-Ki-Jagah.

माया देवी मंदिर हरिद्वार

देवी माया को समर्पित हरिद्वार का दार्शनिक स्थल माया देवी मंदिर हरिद्वार के सबसे पुराने मंदिरों में से एक है। है कि इस प्रसिद्ध मंदिर में माता सती के आत्मदाह के अपरांत नाभि और दिल इस स्थान पर गिरे थे। इसलिए यह जगह हरिद्वार की सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है
। प्रसिद्ध माया देवी मंदिर हरिद्वार 52 शक्तिपीठों में से एवं पंच तीर्थ स्थलों में से एक है। हरिद्वार की यात्रा के लिए यह एक अच्छा गंतव्य है यहां से आसपास के नजारे बेहद खूबसूरत दिखाई देते हैं। आप चाहें तो हरिद्वार में घूमने की जगह किस श्रेणी में माया देवी मंदिर को शामिल कर सकते हैं

शांतिकुंज आश्रम हरिद्वार

शांतिकुंज आश्रम हरिद्वार के उन जगहों में से एक है यदि आप हरिद्वार में एक दिन घूमने के लिए जाते हैं तो आप आसानी से शांतिकुंज आश्रम के दर्शन कर सकते हैं। खूबसूरत और भारतीय संस्कृति को प्रस्तुत करता शांतिकुंज हरिद्वार का निर्माण 1971 में पंडित राम शर्मा आचार्य द्वारा किया गया था। यह एक मेडिटेशन शिक्षा प्रदान केंद्र है जहां पर बहुत से लोग मेडिटेशन के लिए आते हैं। मैं तो अपनी हरिद्वार की यात्रा में शांतिकुंज आश्रम को भी शामिल कर सकते हैं।

Haridwar Me Ghumne Ki Jagah (2)

राजाजी राष्ट्रीय उद्यान हरिद्वार

हरिद्वार के दार्शनिक स्थलों में ( Tourist Place of Haridwaar ) राजा जी राष्ट्रीय उद्यान का स्थान अपने आप में खास एवं अनोखा रहता है। प्रकृति प्रेमी है और हरिद्वार में घूमने की जगह ढूंढ रहे हैं तो राजाजी राष्ट्रीय उद्यान आपके लिए एक अच्छा यात्रा गंतव्य हो सकता है। पहाड़ की खूबसूरत वादियों के बीच में स्थित राजाजी राष्ट्रीय उद्यान प्रकृति के खूबसूरत दृश्य और विभिन्न प्रकार के वन्य जीव प्राणियों एवं खूबसूरत हरे भरे पेड़ पौधों का एक समूह है। आप चाहे तो शाम के समय में अपने दोस्तों और परिवार के साथ हरिद्वार के राष्ट्रीय उद्यान के दर्शन कर सकते हैं।

मनसा देवी मंदिर हरिद्वार

हरिद्वार के पवित्र स्थलों में से एक मनसा देवी मंदिर माता मनसा देवी को समर्पित है जो कि बिलवा नाम के एक सुंदर पहाड़ी के ऊपर बना हुआ है। मंदिर में प्रवेश के लिए केवल कार और पहाड़ी रास्ते का उपयोग किया जाता है। स्थानीय मानता है कि जो भी भक्त यहां सच्चे मन से कामना करते हैं और मंदिर में धागा बांधते हैं मां मनसा देवी उनकी मनोकामना जरुर पूर्ण करती है। यहां से आसपास का जो बेहद खूबसूरत एवं मनमोहक दिखाई देता है।

दक्ष महादेव मंदिर हरिद्वार

इतवार में घूमने की जगह की श्रेणी में ( Haridwar Me Ghumne Ki Jagah ) दक्ष महादेव मंदिर का नाम उचित स्थान पर आता है। भगवान भोलेनाथ को समर्पित यह मंदिर गंगा नदी के किनारे स्थित है। ऐतिहासिक मान्यताओं के आधार पर किंवदंती है कि दक्ष महादेव मंदिर का नाम देवी सती के पिता राजा दक्ष प्रजापति के नाम पर रखा गया है। किवदंति है कि इस स्थान पर राजा दक्ष ने पवित्र यज्ञ किया था। भक्तों को आकर्षित करने वाली इस पवित्र मंदिर का निर्माण आकर्षित वास्तुकला की सहायता से किया गया है।

Haridwar Me Ghumne Ki Jagah

हरिद्वार में घूमने के लिए गौ घाट

हरिद्वार में घूमने के लिए ( Tourist Place of Haridwaar ) गौ घाट एक प्रसिद्ध स्थल माना जाता है। गौ घाट की मुख्य विशेषता यह है कि यहां पर श्रद्धालु गौ माता की पूजा के लिए आती है। स्थानीय मानता है कि इस स्थान पर पूजा करने से भाग्य के दरवाजे खुल जाते हैं और गौ माता का आशीर्वाद प्राप्त होता है इसलिए हरिद्वार में गौ घाट का स्थान सर्वश्रेष्ठ है।

Haridwar-Me-Ghumne-Ki-Jagah.

हरिद्वार घूमने का सबसे अच्छा समय, Haridwaar Ghumne Ka Samay

दोस्तों वैसे तो यदि बात की जाए हरिद्वार घूमने का सबसे अच्छा समय कब होता है तो जब आपकी छुट्टियां होती है आप उसे दौरान यात्रा कर सकते हैं लेकिन मौसम के अनुकूल समय के बाद की जाए तो हरिद्वार घूमने का सबसे अच्छा समय फरवरी से लेकर मई तक सितंबर से लेकर दिसंबर माह तक हरिद्वार की यात्रा का सबसे अच्छा समय माना जाता है। इस दौरान यहां का मौसम काफी अनुकूल बना रहता है जिसके कारण आप एक जगह से दूसरी जगह आराम से यात्रा कर सकते हैं।

हरिद्वार घूमने का खर्चा. Haridwaar Ghumne Ka Kharcha

प्यार पाठकों को यदि बात की जाए हरिद्वार घूमने का खर्च के बारे में। तो बताना चाहेंगे कि यदि आप दिल्ली जैसे महानगर से अपनी यात्रा शुरू करते हैं और लगभग तीन-चार दिन आप हरिद्वार में रुकते हैं तो आपके रहने और खाने का खर्चा लगभग एक व्यक्ति के हिसाब से 3 से ₹4000 आ सकता है। हरिद्वार में बहुत से धर्मशालाएं ऐसे हैं जहां आप यात्री के समय में विश्राम कर सकते हैं यदि आप हरिद्वार की यात्रा सस्ते में करना चाहते हैं तो आप धर्मशाला में भी रह सकते हैं।

हरिद्वार कैसे जाएं. How To Reach Haridwaar

हरिद्वार पहुंचने के लिए वायु मार्ग एवं सड़क मार्ग के अलावा रेल मार्ग का विकल्प भी उपलब्ध है लेकिन सबसे अच्छा सड़क मार्ग एवं रेल मार्ग हो सकता है। सड़क मार्ग के माध्यम से हरिद्वार आसानी से पहुंचा जा सकता है दिल्ली जैसे महानगर से हरिद्वार लगभग 230 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेल के माध्यम से हरिद्वार पहुंचने के बाद की जाए तो। बताना चाहेंगे कि हरिद्वार का नजदीकी रेलवे स्टेशन हरिद्वार में है स्थित है आप अपने नजदीकी रेलवे स्टेशन से यात्रा का लुफ्त उठाते हुए हरिद्वार पहुंच सकते हैं।

वायु मार्ग का विकल्प हरिद्वार पहुंचने के लिए काफी महंगा पड़ सकता है। हरिद्वार का नजदीकी एयरपोर्ट जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है। हरिद्वार से लगभग 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। चाहे तो वायु मार्ग के माध्यम से भी हरिद्वार पहुंच सकते हैं।

दोस्तों यह था हमारा आज का लेख जिसमें हमने आपको हरिद्वार घूमने की जगह के बारे में ( Haridwar Me Ghumne Ki Jagah ) जानकारी दी। ऐसा करते हैं कि आपको हरिद्वार में घूमने की जगह के बारे में जानकारी मिल गई होगी । यदि आपको यह एक पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर साझा करें। उत्तराखंड से संबंधित ऐसे ही जानकारी युक्त लेख पाने के लिए आप में भूमि उत्तराखंड को जरूर फॉलो करें।

लेख भी पढ़े –


Spread the love

Leave a Comment

You cannot copy content of this page

×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× Chat with us