मुक्तेश्वर में घूमने की जगह. Mukteswar Ghumne Ki Jagah

Spread the love

हेलो दोस्तों नमस्ते कैसे हैं आप सभी लोग आशा करते हैं कि आप सभी लोग बढ़िया होंगे। देवभूमि उत्तराखंड के आज के ब्लॉग इस लेख में हम आपको मुक्तेश्वर घूमने की जगह के बारे में जानकारी देने वाले हैं। यदि आप भी अपने परिवार के साथ यात्रा करने का विचार बना रहे हैं और आप चाहते हैं कि आप अपनी यात्रा उत्तराखंड में करें। उत्तराखंड की प्राकृतिक सुंदरता के साथ करें तो आज हम उन्हें खूबसूरत जगह में से एक मुक्तेश्वर में घूमने की जगह के बारे में जानकारी देने वाले हैं आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख जरूर पसंद आएगा।

लेकिन यात्रा करने से पहले एवं यात्रा की जानकारी देने से पहले हम आपको थोड़ी सी जानकारी मुकेश्वर के बारे में देना चाहिए़ ताकि आप अच्छे से अपनी यात्रा की योजना बना पाए। और आप अपने परिवार के साथ यात्रा करने के लिए तैयार हो सके।

मुक्तेश्वर के बारे में. Mukteswar ke Bare Main

मुक्तेश्वर भारत के पर्वतीय राज्य उत्तराखंड का एक खूबसूरत सा पर्यटन स्थल है जो की समुद्र तल से 7500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण यह जगह खूबसूरत पहाड़ों के मध्य में स्थित है। यह स्थल मुख्य रूप से नैनीताल से 50 किलोमीटर की दूरी पर एवं हल्द्वानी से 72 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस खूबसूरत यात्रा योजना में पहाड़ के खूबसूरत वादियों के साथ-साथ क्लाइंबिंग एवं रोपलिंग आनंद भी ले सकते हैं।

मुक्तेश्वर का मौसम. Mukteswar Ka Mosam

शहर की तपतपाती गर्मी से मुक्तेश्वर आपको कहीं ना कहीं निजाता दिलाने वाला है। प्रकृति की सुरम्य घाटियों के बीच में स्थित मुक्तेश्वर अपनी खूबसूरत मौसम के लिए पूरे वर्ष भर प्रसिद्ध रहता है। गर्मी के समय में यहां का मौसम पर्यटकों को शहर की गर्म आवोहवा से ठंडक प्रदान करता है। गर्मियों के समय में यहां का तापमान सामान्य 15 डिग्री के आसपास बना रहता है जिसके कारण यह जगह हमेशा ठंडी बनी रहती है। ठीक उसी प्रकार से सर्दियों के समय में मुक्तेश्वर का तापमान 5 डिग्री के आसपास बना रहता है। जबकि कभी-कभी बारिश होने के कारण यहां का तापमान माइनस में भी चला जाता है। उस समय यहां पर प्रकृति के खूबसूरत वादियां बर्फ से ढकी हुई दिखाई देती है।

मुक्तेश्वर में घूमने की जगह. Mukteswar Ghumne Ki Jagah

वैसे तो मुक्तेश्वर में घूमने की जगह बहुत सी है(Mukteswar Ghumne Ki Jagah) लेकिन आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको कुछ ऐसी जनों के बारे में बताने वाले हैं जिनके बारे में शायद ही आपने पहले सुना होगा। यह सभी जगह मुक्तेश्वर की आस पास की होने वाली है और इन सभी जगहों के दर्शन आप अपने परिवार के साथ कह सकते हैं। मक्केश्वर यात्रा योजना की जानकारी केवल आप ही लोगों के लिए बनाई गई है। आप अपनी यात्रा के दौरान इन सभी जगहों के दर्शन आराम से कर सकते हैं।

मुक्तेश्वर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह भालू गाड़ झरना.

मुक्तेश्वर में घूमने की जगह किस श्रेणी में सबसे पहले हम आपको लेकर चलने वाले हैं भालू गाड़ झरना में। प्रकृति की बहुत करीब यह जगह अपने खूबसूरत वातावरण के साथ एक सुंदर से बहते हुए झरने के लिए प्रसिद्ध है। झरना मुक्तेश्वर से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । जहां के लिए आप किराए की गाड़ी भी ले सकते हैं।
यहां पर आपको लगभग 60 फीट ऊंचा झरना मिलने वाला है इस जलने के बारे में बताया जाता है कि इसका पानी का प्रभाव पूरे वर्ष भर बना रहता है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह जगह है खूबसूरत होने के साथ-साथ उन्हें आनंदित ली करने वाली है।

mukteswar-me-ghumne-ki-jagah

लेकिन यात्रा करने से पहले हम आपको बता दें कि भालू गाड़ झरना मै यात्रा करने के लिए स्थानीय पंचायत द्वारा ₹20 प्रवेश शुल्क के रूप में लिया जाता है। यदि आपको नहीं पता कि आप किस तरीके से इस खूबसूरत सी झील का आनंद ले सकते हैं। तो स्थानीय पंचायत द्वारा ₹200 का ट्रैवल गाइड शुल्क लिया जाता है जिसमें वह आपको यात्रा से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं।

मुक्तेश्वर में घूमने के लिए जगह मुक्तेश्वर महादेव मंदिर.

मुक्तेश्वर के धार्मिक स्थलों में (Mukteswar ke mandir ) सबसे प्रमुख स्थान पर मुक्तेश्वर महादेव मंदिर का नाम आता है । समुद्र तल से 7500 फीट की ऊंचाई पर स्थित यह मंदिर पहाड़ी चोटी पर बनी हुई है। यह मंदिर भगवान शिव जी को समर्पित है लेकिन जब आप मंदिर में प्रवेश करते हैं तो आपको मंदिर में भगवान शिव जी की प्रतिमा के साथ भगवान विष्णु, पार्वती एवं हनुमान जी की प्रतिमा के साथ अन्य देवी-देवताओं की प्रतिमाएं भी दिखाई देती है । मंदिर के प्रांगण एवं मंदिर तक पहुंचने के लिए 100 सीढ़ियां चढ़ने पड़ती है। आस्था एवं भक्ति का प्रतीक इस मंदिर के बारे में बताया जाता है कि जो भी वक्त यहां पर सच्चे मन से कामना करते हैं भगवान भोलेनाथ उनकी मनोकामना जरूर पूर्ण करते हैं। हर वर्ष हजारों की संख्या में भक्तों का आना जाना यहां पर लगा रहता है। प्राकृतिक सुंदरता एवं आसपास का वातावरण काफी खूबसूरत होने के कारण यह पर्यटकों के मन को खूब लुभाती है इस जगह से नंदा देवी एवं त्रिशूल आदि हिमालय पर्वतों के दर्शन भी हो जाते हैं।

मुक्तेश्वर में घूमने की जगह. Mukteswar Ghumne Ki Jagah

मुक्तेश्वर के पर्यटन स्थल धानाचुली.

देवभूमि उत्तराखंड को धरती का स्वर्ग कहा जाता है। प्राकृतिक सौंदर्य इसकी मुख्य पहचान है। और उन्हीं खूबसूरत जगह में से एक है धानाचुली जो कि नैनीताल जिले के मुक्तेश्वर क्षेत्र में स्थित हैं। खूबसूरत पहाड़ियां एवं समुद्र तल से 7000 फीट की ऊंचाई पर स्थित यह एक छोटा सा गांव है। जो कि प्राकृतिक सौंदर्य के साथ-साथ अपने पारंपरिक रीति-रिवाजों एवं संस्कृति के लिए भी मशहूर है। परिवार के साथ यात्रा करने के लिए गई है एक अच्छी जगह है।

मुक्तेश्वर की सबसे खूबसूरत जगह शीतला गांव

मुक्तेश्वर के सबसे हसीन वादियों के बीच में स्थित शीतला गांव समुद्र तल से 7000 फीट की ऊंचाई पर स्थित। हिमालय के साथ-साथ नंदा देवी एवं त्रिशूल जैसे हिमपात पर्वत यहां से देखे जा सकते हैं। जो कि हजारों पाठकों को अपनी मनमोहक दृश्यों से लुभाती है। इसी जगह के सामने अपी और नहापा पर्वत है जो नेपाल की सीमा से जुड़े हुए हैं। यदि आपको बर्फ देखने का शौक है तो आप अपने परिवार के साथ इस खूबसूरत सी जगह के दर्शन कर सकते हैं यहां से आपको हिमपात एवं बर्फीली चोटियां दिखाई देंगी। जो कि आपकी यात्रा को और अधिक हसीन बनाने वाले।

mukteswar-me-ghumne-ki-jagah-1

मुक्तेश्वर की खूबसूरत जगह चौली की जाली

मानो यह जगह प्राकृतिक सौंदर्य को अपने आगोश में लिए बैठे हो। मुक्तेश्वर मंदिर के पीछे यानी कि थोड़ी सी दूरी पर स्थित चौली की जाली मुक्तेश्वर में घूमने के लिए एक अच्छी जगह है जो कि अपनी प्राकृतिक सौंदर्य के लिए काफी प्रसिद्ध है। यदि आप प्रकृति प्रेमी हैं तो आपको इस खूबसूरती जगह के दर्शन जरूर करना चाहिए। एचडी के दर्शन करने के दौरान आप अपने परिवार के साथ फोटोग्राफी एवं रैपलिंग और रॉक क्लाइंबिंग का आनंद भी ले सकते हैं। यह जगह मुक्तेश्वर बाजार से मात्र 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और मुक्तेश्वर मंदिर से ढाई सौ मीटर की दूरी पर स्थित है आप यहां आसानी से पहुंच सकते हैं।

मुक्तेश्वर के पर्यटन स्थल नंदा देवी शिखर

मुक्तेश्वर अपने प्राकृतिक सौंदर्य के साथ ऊंची ऊंची खूबसूरत पहाड़ों के लिए पहचानी जाती हैं। इस जगह आप नंदा देवी पर्वत के मनमोहक दृश्य का आनंद ले सकते हैं। यह भारत की सबसे ऊंची चोटियों में से एक है जिसकी ऊंचाई समुद्र तल से 7816 मीटर है। यहां इस चोटी से आप संपूर्ण मुक्तेश्वर के साथ-साथ कई अन्य जगहों के शानदार हास्य देख सकते हैं। नंदा देवी पर्वत भारत के उत्तराखंड राज्य में पूर्व में गोरी गंगा तथा पश्चिमी क्षेत्र में ऋषि गंगा घाटियों के बीच स्थित है। यदि आप अपने दोस्तों के साथ मुक्तेश्वर यात्रा के लिए आते हैं तो आप यहां ट्रैकिंग का आनंद भी ले सकते हैं।

mukteswar-me-ghumne-ki-jagah-

मुक्तेश्वर में घूमने के लिए जगह ब्रह्मेश्वर मंदिर

ब्रह्मेश्वर मंदिर मुक्तेश्वर के धार्मिक स्थलों (Mukteswar ke mandir ) में से एक है जो कि चोली की जाली नामक चट्टान के समीप स्थित है। भगवान शिव जी को समर्पित यह मंदिर आस्था एवं भक्ति का प्रमुख केंद्र है जहां पर हर वर्ष हजारों की संख्या में श्रद्धालु आए करते हैं। यह प्रसिद्ध मंदिर सड़क मार्ग से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मंदिर के निर्माण विषय में क्यों बनती है कि मंदिर का निर्माण 1050 में हुआ था। आज के समय में यह मंदिर देवी-देवताओं की प्रतिमाओं के साथ सुसज्जित हैं।

मुक्तेश्वर का पर्यटन स्थल किल्मोरा शॉप

किल्मोरा मुक्तेश्वर की उन प्रमुख दुकानों में से एक है जहां पर जायका का एक आदर्श स्वाद लिया जा सकता। अपनी स्थानीय उत्पादों के साथ दुकान अपने प्रसिद्धि पर हैं जहां पर आप सर्दियों के वस्त्र एवं स्थानीय उत्पाद अनाज, जड़ी-बूटी आदि विशेष प्रकार की वस्तुएं प्रदान की जाती है। इस दुकान के सामानों की मुख्य विशेषता यह है कि यह समान शुद्ध एवं ऑर्गेनिक तरीके से उगाया एवं बनाया जाता है।

मुक्तेश्वर कैसे पहुंचे. Mukteswar Kese Pahuchen

मुक्तेश्वर पहुंचने के लिए सड़क मार्ग के साथ-साथ रेल मार्ग एवं वायु मार्ग का विकल्प भी उपलब्ध है आप चाहे तो किसी भी माध्यम से यहां तक आसानी से पहुंच सकते हैं।

सड़क मार्ग से मुक्तेश्वर – मुक्तेश्वर सड़क मार्ग से पूरी तरह से जुड़ा हुआ है । जिसके कारण सभी लोग यहां आराम से पहुंच सकते हैं। यह दिल्ली से 350 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। देश की राजधानी देहरादून से मात्र 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है आप बस के माध्यम से आराम से यहां तक पहुंच सकते हैं।

रेल मार्ग से मुक्तेश्वर – मुक्तेश्वर का नजदीकी रेलवे स्टेशन काठगोदाम हैं। काठगोदाम से मुक्तेश्वर की दूरी मात्र 70 से 75 किलोमीटर है। जहां के लिए आप किराए की टैक्सी यहां बस के माध्यम से भी आ सकते हैं।

मुक्तेश्वर हवाई मार्ग द्वारा- मुक्तेश्वर हवाई मार्ग द्वारा भी पहुंचा जा सकता है। मुकेश का नजदीकी हवाई अड्डा पंतनगर है। जहां से मुक्तेश्वर की दूरी लगभग 100 किलोमीटर है। यहां से मुक्तेश्वर के लिए गाड़ियां चलती रहती है। आप चाहे तो बस एवं किराए की टैक्सी लेकर भी यहां तक पहुंच सकते हैं।

दोस्तों यह था हमारा आज का लेख , जिसमें हमने आपको मुक्तेश्वर में घूमने के लिए जगह के बारें में जानकारी दी आशा करते है की आपको यह लेख पसंद आया होगा, आपको यह लेख केसा लगा हमें टिप्पणी के माध्यम से व्यक्त करें। यदि आप भी ऐसा ही जानकारीयुक्त लेख हम तक पहुंचना चाहते है तो आप हमें ईमेल के माध्यम से भी लिख सकते है।

यह भी पढ़ें – 

उत्तराखंड के प्रमुख बोलियां.


Spread the love

Leave a Comment

You cannot copy content of this page

×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× Chat with us