नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश. Neelkanth Mahadev Mandir Rishikesh

Spread the love

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारें ब्लॉग के आज के नए लेख में। इस लेख में हम आपको नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश ( Neelkanth Mahadev Mandir Rishikesh) के बारें में जानकारी देने वाले है। नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश का प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में एक है यह अपने धार्मिक महत्व के लिए उत्तराखंड के अलावा पूरे देश भर में मशहूर है।

नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश ( Neelkanth Mahadev Mandir Rishikesh) उत्तराखंड, भारत में स्थित है और एक प्रमुख धार्मिक स्थल के रूप में मान्यता प्राप्त है। यह मंदिर पुण्यभूमि पर स्थित है और पूरे देश के और विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने का एक मशहूर स्थान है। नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश ( Neelkanth Mahadev Mandir Rishikesh) भगवान शिव को समर्पित है और इसे शिवरात्रि के पवित्र दिन पर भी विशेष महत्व प्राप्त है।

ऐतिहासिकता और महत्व. Neelkanth Mahadev Mandir

नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश का ऐतिहासिक महत्व गहरी धार्मिक और सांस्कृतिक परंपराओं से जुड़ा हुआ है। इसे आदिशंकराचार्य द्वारा स्थापित किया गया है और यह उस स्थान पर स्थित है जहां भगवान शिव ने अपने क्रोध को वश में किया था और विष पीने के बाद अपने गले में नीला रंग धारण किया था। मंदिर के आस-पास कई पुरातात्विक स्थल भी हैं, जिनमें विश्रामघाट, त्र्यंबकेश्वर मंदिर और ध्यान योग आदि शामिल हैं।

पूजा और आराधना का स्वर्णिम स्थान. Neelkanth Mahadev Mandir Pooja

नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश ( नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश. ( Neelkanth Mahadev Mandir Rishikesh) पूजा और आराधना के लिए एक स्वर्णिम स्थान है। यहां परंपरागत तरीके से भगवान शिव की पूजा की जाती है और भक्तों को आनंद और शांति की अनुभूति होती है। यहां पर विभिन्न पूजा और उपासना के अवसरों पर भक्तजन एकत्र होते हैं और दिव्य भावनाओं का अनुभव करते हैं। मंदिर में आरती विधियाँ और शिव लिंग की संगठन की व्यवस्था की जाती है, जो यहां आने वाले भक्तों को एक आनंदमय और धार्मिक अनुभव प्रदान करती है।

Neelkanth mahadev mandir

ऋषिकेश के पर्यटन स्थल. Neelkanth Mahadev Mandir Tour

नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश उत्तराखंड प्रदेश में पर्यटन का एक प्रमुख केंद्र है। यहां आने वाले पर्यटक धार्मिकता का आनंद लेते हैं और अपनी आध्यात्मिक यात्रा को समृद्ध करते हैं। मंदिर के आसपास के पर्यटन स्थलों में विश्रामघाट, जगदम्बा मंदिर, त्र्यंबकेश्वर मंदिर, आदि शामिल हैं। यहां पर्यटक विभिन्न पर्यटन गतिविधियों का आनंद लेते हैं और अपने मन को शांत करते हैं।

इस प्रकार, नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश ( Neelkanth Mahadev Mandir ) एक स्वर्णिम पूजा स्थल है जो ऋषिकेश के पर्यटन स्थलों में सर्वोच्च मान्यता प्राप्त है। यहां भगवान शिव की पूजा, आराधना और ध्यान अपने शांत और आध्यात्मिक वातावरण में की जा सकती है।

नीलकंठ का रहस्य. Neelkanth Mahadev Mandir Rahasya

नीलकंठ मंदिर का रहस्य के बारे में किंवदंती है कि भगवान शिव जी ने इसी स्थान पर समुद्र मंथन से निकला विष ग्रहण किया था और उसी समय उनकी पत्नी मां पार्वती जी ने उनका गला दबाया जिससे कि उनका जहर गले से नीचे नहीं गया। विष गले में रुक जाने के कारण भगवान शिव जी का गला नीला पड़ गया। इस वजह से इस मंदिर को नीलकंठ महादेव मंदिर कहा जाता है।

नीलकंठ महादेव मंदिर किस जिले में है. Neelkanth Mahadev Mandir Location

भारत के उत्तराखंड राज्य में बसा नीलकंठ महादेव मंदिर भारत के सबसे प्रसिद्ध एवं धार्मिक स्थलों में से एक है। नीलकंठ महादेव मंदिर उत्तराखंड के देहरादून जिले में स्थित है। भारत के उत्तराखंड राज्य का यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल के रूप में पहचाना जाता है।

Neelkanth mahadev mandir

नीलकंठ की चढ़ाई कितनी है. Neelkanth Mahadev Mandir Height

नीलकंठ महादेव मंदिर आने वाले सभी श्रद्धालुओं के मन में यह सवाल जरूर होता है कि नीलकंठ की चढ़ाई कितनी है। बताना चाहेंगे कि भगवान भोलेनाथ के समर्पित नीलकंठ महादेव मंदिर की चढ़ाई 11 किलोमीटर पैदल है। जबकि 35 किलोमीटर लंबे मोटर मार्ग से आवाजाही मिल सकती है।

ऋषिकेश से नीलकंठ महादेव की दूरी. Neelkanth Mahadev Mandir Distance

ऋषिकेश से नीलकंठ महादेव मंदिर की दूरी लगभग 35 किलोमीटर है । पूरा मार्ग पहाड़ी होने के कारण पहाड़ के मनोरम हास्य यहां से देखे जा सकते हैं। ऋषिकेश से नीलकंठ महादेव मंदिर तक पहुंचने में लगभग डेढ़ से 2 घंटे लग जाते हैं। स्वर्ग आश्रम के रास्ते पैदल यात्रा करने पर 7 से 8 किलोमीटर की खड़ी लड़ाई करनी पड़ती है। लगभग 5 किलोमीटर की खड़ी चढ़ाई चढ़ने के बाद नीलकंठ महादेव मंदिर ( Neelkanth Mahadev Mandir )के दर्शन कर सकते। नीलकंठ महादेव मंदिर ऋषिकेश के उन स्थानों में से एक है जो हमेशा व्यस्त और श्रद्धालुओं से भरा हुआ रहता है।


Spread the love

Leave a Comment

You cannot copy content of this page

×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× Chat with us